Haryana

DSP सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड के 2 अहम सबूत: जिस डंपर से कुचला वो बरामद; साथ बैठा क्लीनर एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार

  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rewari
  • In The Murder Of DSP Surendra Singh In Nuh District Of Haryana, We Have Got Two Proofs In The Hands Of The Police. One Of The Accused Was Arrested After The Encounter. Wherein The Dumper Used In The Incident Was Recovered

रेवाड़ीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

एनकाउंटर के बाद अस्पताल में भर्ती आरोपी इकरार।

हरियाणा के नूंह में DSP सुरेन्द्र सिंह की हत्या के मामले में पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए 2 अहम सबूत अपने कब्जे में ले लिए है। इनमें पहला सबूत जिस डंपर से डीएसपी को कुचला उसे बरामद किया गया है। वहीं दूसरी तरफ एनकाउंटर के बाद इकरार नाम के शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है। बड़ा खुलासा यह हुआ है कि जिस डंपर को पुलिस ने बरामद किया है। उसपर रजिस्ट्रेशन नंबर तक नहीं है।

इकरार वहीं शख्स है तो वारदात के वक्त पत्थरों से लदे डंपर में बतौर क्लीनर बैठा हुआ था। एनकाउंटर के वक्त इकरार के सीधे पैर में गोली लगी है। उसे नूंह के नल्हड़ स्थित मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। साथ ही 2 जिलों के करीब 400 से ज्यादा पुलिस के जवान डीएसपी पर डंपर चढ़ाने वाले चालक की तलाश में पूरे नूंह इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाए हुए हैं।

बरामद किया गया बगैर नंबर वाला डंपर।

बरामद किया गया बगैर नंबर वाला डंपर।

डीएसपी सुरेन्द्र सिंह के हत्याकांड ने प्रदेश सरकार को हिलाकर रख दिया है। पुलिस के तमाम आला अफसरों ने नूंह में डेरा डाला हुआ है। अवैध माइनिंग से जुड़े हर उस शख्स का रिकॉर्ड खंगाला जा रहा है, जिसके तार इस हत्याकांड से जुड़े हो सकते है। सीआईए के अलावा पुलिस की 8 टीमें इस पूरे ऑपरेशन को अंजाम देने में लगी हुई है। पुलिस पर दबाव को इसी से समझा जा सकता है कि वारदात के 4 घंटे के भीतर ना केवल पुलिस ने एनकाउंटर कर एक आरोपी को दबोचा, बल्कि कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ भी की जा रही है।

ऐसे अंजाम दी वारदात
दरअसल, नूंह जिले के कस्बा तावड़ू पुलिस को पंचगांव की पहाड़ी में बड़े स्तर पर अवैध खनन की सूचना मिली थी। DSP सुरेंद्र सिंह पुलिस टीम के साथ पहाड़ी पर रेड मारने पहुंचे थे। पहाड़ी पर उन्हें पत्थर ले जाते वाहन मिले, जिसे उन्होंने रोकना शुरू कर दिया। इसी बीच माफियाओं ने DSP पर पत्थरों से भरा डंपर चढ़ा दिया।

इसी डंपर के जरिए हो रही थी अवैध माइनिंग।

इसी डंपर के जरिए हो रही थी अवैध माइनिंग।

उस समय DSP सुरेंद्र सिंह अपनी सरकारी गाड़ी के पास खड़े थे। डंपर की टक्कर से वह नीचे गिर गए और डंपर उनको रौंदता हुआ ऊपर से निकल गया। सुरेंद्र सिंह ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। वारदात के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। घटना की जानकारी के बाद बड़ी संख्या में अफसर और पुलिस टीम मौके पर पहुंची और सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया।

3 महीने बाद था सुरेंद्र सिंह का रिटायरमेंट
डीएसपी सुरेंद्र सिंह हिसार जिले के आदमपुर क्षेत्र के गांव सारंगपुर के रहने वाले थे। वे 12 अप्रैल 1994 को हरियाणा पुलिस में ASI के पद पर भर्ती हुए थे। पुलिस से 31 अक्टूबर को उनकी सेवानिवृत्ति होनी थी।

बताया गया है कि अवैध खनन रोकने गए डीएसपी सुरेंद्र सिंह ने अपनी गाड़ी अड़ा कर वहां से गुजर रहे डंपर को रोका था। इसके बाद गाड़ी से नीचे उतरे तो डंपर ने उनको कुचल दिया।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button