Haryana

CM का दावा-DAP की कमी नहीं रहने देंगे: कहा- 6 जिलों में लगाए प्रशासनिक सचिव, केंद्र सरकार से बात कर खाद के 6 अतिरिक्त रैक बढ़वाए

यमुनानगर34 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने दावा किया है कि प्रदेश में DAP खाद की कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि बाजार में पिछले बरस की तुलना में इस साल 11 हजार मीट्रिक टन अधिक DAP खाद उपलब्ध है। फिर भी किसानों की मांग को देखते हुए उन्होंने केंद्रीय केमिकल एवं फर्टिलाइजर मंत्री मनसुख मांडविया से फोन पर बातचीत कर 6 अतिरिक्त रैक बढ़ाने पर सहमति ले ली है।

मुख्यमंत्री ने किसानों से धैर्य बनाए रखने के लिए अपील की और कहा कि इस समय हरियाणा के किसानों के लिए 24 रैक DAP उपलब्ध है। 5 रैक अभी आने हैं। इसके अलावा केंद्रीय मंत्री से हुई बातचीत के मुताबिक 6 अतिरिक्त रैक आने पर 31 अक्टूबर तक हरियाणा के पास खाद के कुल 11 रैक और उपलब्ध होंगे।। मुख्यमंत्री ने राज्य की सीमाओं पर सख्ती बरतने के निर्देश दिए ताकि हरियाणा से DAP खाद की अन्य राज्यों में ब्लैक न की जा सके।

छुट्‌टी के दिन मुख्यमंत्री ने ली अफसरों की मीटिंग
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने चंडीगढ़ में रविवार को अधिकारियों की उच्चस्तरीय बैठक ली जिसमें DAP खाद की उपलब्धता और डिमांड पर चर्चा की गई। उन्होंने हरियाणा के सीमावर्ती जिलों रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, भिवानी, नूंह और झज्जर के डीसी व एसपी को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र में नाके लगाकर प्रदेश से बाहर जाने वाली गाड़ियों की जांच करें ताकि DAP खाद को अवैध तौर पर हरियाणा से बाहर न ले जाया जा सके।

मुख्यमंत्री ने DAP खाद की डिमांड और उसकी वजह से बने हालात पर नजर रखने के मकसद से रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, भिवानी, नूंह और झज्जर जिलों के लिए तुरंत प्रभाव से प्रशासनिक सचिवों को इंचार्ज लगा दिया। ये प्रशासनिक सचिव 25 अक्टूबर से 27 अक्टूबर तक इन जिलों में ही मौजूद रहकर DAP खाद के वितरण पर निगाह रखेंगे।

जहां पहले जरूरत, वहां पहले दी जाए सप्लाई
CM ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन किसानों ने रबी फसलों के लिए ‘मेरी फसल मेरा ब्यौरा’ पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाया है, उसके अनुसार ही किसानों को DAP खाद का वितरण किया जाए। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को डिमांड के अनुसार DAP खाद की सप्लाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए और कहा कि जिस क्षेत्र के किसानों को पहले खाद की जरूरत है वहां पहले सप्लाई दी जाए।

किसानों से DAP का भंडारण न करने का आग्रह
CM ने कहा कि पिछले साल राज्य में 24 अक्टूबर तक 87 हजार मीट्रिक टन DAP खाद की बिक्री की गई थी वहीं इस साल 24 अक्टूबर तक 98 हजार मीट्रिक टन खाद की बिक्री की जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने किसानों से उत्तेजित न होने की अपील करते हुए कहा कि वे आवश्यतानुसार ही डीएपी की खरीद करें और इसका भंडारण न करें ताकि सभी किसानों को समान रूप से खाद मिल सके।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button