Haryana

लॉरेंस-गोल्डी गैंग का गुर्गा बनकर मांगी फिरौती: जींद में 2 युवक गिरफ्तार, कर्ज उतारने के लिए आढ़ती से व्हाट्सएप कॉल कर मांगे थे 20 लाख

जींद27 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पुलिस की गिरफ्त में 2 युवक।

हरियाणा के जींद में लॉरेंस बिश्रोई और गोल्डी बराड़ गैंग के गुर्ग बनकर आढ़ती से 20 फिरौती मांगने वाले 2 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों ने आढ़ती से 29 जून को व्हाट्सएप पर कॉल कर 20 लाख मांगे थे। इसकी शिकायत आढ़ती ने पुलिस को दी। पुलिस ने आढ़ती की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ फिरौती मांगने सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था।

इसके बाद एसपी नरेंद्र बिजरानिया के दिशा-निर्देशों पर एएसपी कुलदीप सिंह के नेतृत्व में सीआईए, साइबर और शहर थाना पुलिस की टीमें लगातार मामले को ट्रेस करने में जुटी हुई थी। जांच के दौरान गांव नांगला फतेहाबाद निवासी राहुल और गांव कलौदा निवासी अजय का नाम सामने आया। जिस पर दोनों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि किसी को उन पर शक न हो इसके लिए उन्होंने इंडी कॉल ऐप का सहारा लिया।

इसी ऐप के सहारे से आढ़ती को व्हाट्सएप कॉल की गई थी। इस ऐप से उनका नंबर विदेशी हो गया। उन्होंने कॉल कर आढ़ती से 20 लाख रुपए की फिरौती मांग ली। बाकायदा उन्होंने अपनी धाक जमाने के लिए लॉरेंस बिश्रोई तथा गोल्डी बराड़ गैंग के गुर्गे होने की बात कही।

कर्ज उतारने के लिए मांगी थी फिरौती

पुलिस जांच में सामने आया कि गिरफ्तार आरोपी अजय 12वीं पास है और उसका आढ़ती ईश्वर के पास लेनदेन है। अजय ने अपने जानकार गांव नांगला निवासी राहुल के साथ आढ़ती से फिरौती मांगने की योजना बनाई। सोशल मीडिया से ईडी कॉल एप की जानकारी ली गई और फिर राहुल के फोन से आढ़ती को व्हाट्सअप कॉल कर 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई। अजय के परिवार पर कर्ज है। इसी कर्ज को उतारने के लिए लॉरेंस बिश्रोई तथा गोल्डी बराड गैंग के गुर्गे बन कर आढ़ती से फिरौती मांगने का षड्यंत्र रचा।

पुलिस दोनों से कर रही पूछताछ

शहर थाना नरवाना के जांच अधिकारी राजेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस ने 72 घंटे में गुत्थी को सुलझा लिया और दो युवकों को गिरफ्तार किया है। एक आरोपित आढ़ती के गांव का है और आढ़ती के साथ लेनदेन भी रहा है। कर्ज को उतारने के लिए अपने दोस्त के साथ मिल कर आढ़ती से 20 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। पुलिस आरोपितों से पूछताछ कर रही है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Related Articles

Back to top button