Haryana

अंबाला में को-ऑपरेटिव बैंक की बैठक में हंगामा: चेयरमैन का विरोध, सदस्य बोले- लाखों का घोटाला किया, हमेशा के लिए सस्पेंड किया जाए

अंबालाएक घंटा पहले

हरियाणा के अंबाला कैंट स्थित दी पोस्टल एंड RMS को-ऑपरेटिव बैंक में बुलाई गई जनरल बॉडी की मीटिंग हंगामेदार रही। विपक्ष ने बैंक चेयरमैन का जमकर विरोध किया। सदस्यों का गुस्सा फूटता देख चेयरमैन को वहां से निकला उचित समझा। हंगामे की सूचना मिलने के बाद बैंक पहुंची पुलिस ने स्थिति संभाली।

दरअसल, अंबाला कैंट में दी पोस्टल एंड RMS को-ऑपरेटिव बैंक की वर्तमान कार्यकारिणी द्वारा जनरल बॉडी की मीटिंग बुलाई गई थी, जिसकी भनक लगते ही पोस्टल एंड RMS वेल्फेयर सोसायटी के सदस्यों ने विरोध शुरू कर दिया।

विरोध बढ़ता देख वर्तमान बोर्ड ऑफ डायरेक्टर के चेयरमैन नरेश गुप्ता समेत सभी डायरेक्टर को मंच छोड़ कर भागना पड़ा।

भारतीय RMS क्लास-3 के राष्ट्रीय महामंत्री राजेश कुमार ने आरोप लगाया कि वर्ष 2008 में चेयरमैन नरेश गुप्ता ने अन्य अधिकारियों के साथ मिलकर 10-11 लाख रुपए का घोटाला किया था। कोर्ट में गत 29 अगस्त को नरेश गुप्ता समेत 10 आरोपियों को दोषी करार दिया था। 1 सितंबर को दोषियों को 3-3 साल की सजा और 11-11 हजार रुपए जुर्माना लगाया है।इनमें से 3 दोषियों मौत हो चुकी है और 6 सेवानिवृत्त हो चुके हैं।

उन्हें बैंक के CEO अश्वनी अग्रवाल ने बताया कि बैंक के चेयरमैन नरेश गुप्ता को 3 माह के लिए सस्पेंड कर दिया है, लेकिन कोर्ट से दोषी करार हुए नरेश गुप्ता को हमेशा के लिए सस्पेंड किया जाना चाहिए। विपक्ष का आरोप है कि चेयरमैन को जनरल बॉडी की मीटिंग बुलाने का अधिकार नहीं है।

मीटिंग में हंगामा करते विपक्ष ग्रुप के सदस्य।

राजनीति चमकाने के लिए विपक्ष ने किया हंगामा

उधर, बैंक के चेयरमैन नरेश गुप्ता ने बताया कि वाइस चेयरमैन पवन कुमार ने जनरल बॉडी की मीटिंग बुलाई थी। उन्हें सजा हुई है, लेकिन कोर्ट से उन्हें बेल मिल गई है। उन्होंने कहा कि वह वर्ष 2016 से बैंक के चेयरमैन हैं। अब अगले साल बैंक का चुनाव होना है। इसलिए राजेश ग्रुप ने आज अपनी राजनीति चमकाने के लिए मीटिंग में हंगामा किया है।


Source link

Related Articles

Back to top button